अपना ब्लॉग जोड़ें

अपने ब्लॉग को  जोड़ने के लिये नीचे दिए हुए टेक्स्ट बॉक्स में अपने ब्लॉग का पता भरें!
आप नए उपयोगकर्ता हैं?
अब सदस्य बनें
सदस्य बनें
क्या आप नया ब्लॉग बनाना चाहते हैं?
नवीनतम सदस्य

नई हलचल

"भारत भाग्य... "....कमलकिशोर पाण्डेय

बोला था -घर घर जाओ,जाकर हाल पूछते आओ .दो दिन में, दस गाँवों कातुम  सर्वे करके लाए हो ,सच सच बोलो, क्या फिर सेसिर्फ़ सरपंच से मिलके आए हो?कितने भूखे हैं,कितने लाचार .वो शख्स समझ कहाँ पाया है ?जो जाति...  और पढ़ें
4 दिन पूर्व
Yashoda Agrawal
मेरी धरोहर
0
4

तुम्हे लड़ना होगा

मीलों दूर तक पसरे हुए ये रास्तेकभी कभी बोझिल हो जाते हैं कदम जाने पहचाने रास्तों को देर नहीं लगती अजनबी बनने में जब सफर होता है तन्हाऔर मंज़िलें होती गुमरौशनी में नहाये हुए बाज़ार रौनको...  और पढ़ें
4 दिन पूर्व
मधुलिका पटेल
मेरी स्याही के रंग
1

बेलन, बीवी और दर्द (व्यंग्य)

शीर्षक पढ़ के क्या सोच में पड़ गए जनाब..? कहीं आपको आपकी ज़िंदगी का कोई किस्सा तो याद नहीं आ गया? अजी मैं उसी बेलन का ज़िक्र कर रहा हूँ जिसके बगैर एक आदर्श भारतीय घर का किचन अधूरा होता है..। यूँ तो हम सभी...  और पढ़ें
4 दिन पूर्व
Mahesh Barmate
Kuchh Dil Se...
0

निर्देश और विधि

   हमारे घर में, “विधि” मेरे लिए बड़ी खिसियाहट का, और मेरे परिवार जनों के लिए बड़े परिहास का विषय रही है। हमारी शादी के आरंभिक समय में मैं घर के मरम्मत के छोटे-मोटे कार्य करने के प्रयास करता था – ...  और पढ़ें
4 दिन पूर्व
Roz Ki Roti
रोज़ की रोटी - Daily Bread
4

विजेता - कहानी लिखो प्रतियोगिता - Freelance Talents Championship 2018

कहानी को ज़हन में उमड़ते असंख्य विचारों का ऐसा अर्क कहा जा सकता है जो सीधे मन पर मरहम की तरह काम करती है। कभी किसी भावना को जगाती तो कभी कोई नया एहसास करवाती। जहाँ इंटरनेट ने कई लेखकों को बड़ा मंच ...  और पढ़ें
4 दिन पूर्व
Nazariya Now
Nazariya Now
0

ईद

ईद पर सभी मित्रों को  शुभ कामनाएं,                             आपका                              डा० हरिमोहन गुप्त ...  और पढ़ें
4 दिन पूर्व
Dr. Harimohan Gupt
Dr. Hari Mohan Gupt
0
Kavita Gajal Shayari 'मैथिलि कविता'गजल सचिन मैथिल हमर नाम यौ !
0

मैथिलि फ़िल्मक लिस्ट .

मैथिलि फ़िल्मक लिस्ट .\...  और पढ़ें
4 दिन पूर्व
सचिन कुमार मैथिल
Kavita Gajal Shayari 'मैथिलि कविता'गजल सचिन मैथिल हमर नाम यौ !
0

आँचल में सीप

तुम्हारी सीप सी आंखेंऔर ये अश्क के मोती,बाख़बर हैं इश्क़ की रवायत से...तलब थी एक अनछुए पल कीजानमाज बिछी;ख़ुदा से वास्ता बनातुम्हारी पलकों ने करवट लीदुआ में हाँथ उठा बीज ने कुछ माँग लियामेघ बरसे,&n...  और पढ़ें
4 दिन पूर्व
Aparna Bajpai
Bol Skhee Re ( साहित्यिक सरोकारों से प्रतिबद्ध )
2

माँ तो बस माँ होती है..

तान्या बहुत खुशी-खुशी नेल पेंट कर रही थी और बीच-बीच तुषार की आवाज भी सुनती जा रही थी। वो ...  और पढ़ें
4 दिन पूर्व
Abhilasha
@Abhi
2

दिल्ली में ‘धरना बनाम धरना’

दिल्ली सचिवालय की इमारत में एक बड़ा सा बैनर लहरा रहा है, ‘यहाँ कोई हड़ताल नहीं है, दिल्ली के लोग ड्यूटी पर हैं, दिल्ली का सीएम छुट्टी पर है।’मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि बीजेपी ने ...  और पढ़ें
4 दिन पूर्व
Pramod Joshi
जिज्ञासा
1

दोहे "कहो मुबारक ईद" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")

चाँद दूज का देखकर, जागी है उम्मीद।गले मिलो सब प्यार से, कहो मुबारक ईद।।--मौमिन को सन्देश ये, देते हैं रमजान।नेकी और खुलूस का, मौला का फरमान।।--जर्रे-जर्रे में बसा, राम और रहमान।सिखलाते इंसानियत, ...  और पढ़ें
5 दिन पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
3

प्रवाह

इक आह भरता हूं, किश्तों में प्रवाह लिखता हूं.....मैं अनन्त पथ गामी,घायल हूं पथ के कांटों से,पथ के कंटक चुनता हूं,पांवों के छालों संग,अनन्त पथ चल पड़ता हूं,राहों के कई अनुभव,मन में रख लेता हूं यूं सह...  और पढ़ें
5 दिन पूर्व
पुरूषोत्तम कुमार सिन्हा
0

कुछ हाईकू.................सीमा 'सदा'सिंघल

एक मिठासमन की मन से हैजश्‍न ईद का............ईदी ईद कीसंग आशीषों के येजो नवाजती...चाँद ईद कानज़र जब आयेईद हो जाए..पाक़ीजा रस्‍मनिभाओ गले मिल ईद  के दिन.....नेकअमलरोज़ेदार के लिएजश्‍न ईद का ..........दुआ क...  और पढ़ें
5 दिन पूर्व
Yashoda Agrawal
मेरी धरोहर
0

Vipeenchandra Pal

Vipeenchandrapal
Vipeenchandrapal
5 दिन पूर्व
Vipeenchandra Pal
0

Vipeenchandra Pal

Vipeenchandrapal
Vipeenchandrapal
5 दिन पूर्व
Vipeenchandra Pal
0

1065... ईद की बधाई

सभी को यथायोग्यप्रणामाशीष9 जून को दी गई शादी के सालगिरह कीशुभकामनाओं की आभारी हूँ...वेद और वायुयानमैं मानता हूं कि यह सब कुछ सत्य है परन्तु तुम उसके गलत कारण ढूंढ रहे हो। तुम स्वयं भटके हुए हो औ...  और पढ़ें
5 दिन पूर्व
Yashoda Agrawal
पाँच लिंकों का आनन्द
0
2

Quote on Eid

5 दिन पूर्व
Abhilasha
@Abhi
4

झामपंथियों को छद्म सेक्युलरिज्म की लाइलाज़ बीमारी लगी है, इनसे कोई उम्मीद नहीं

हरेश कुमारकश्मीर राइजिंग के संपादक शुजात बुखारी ने फ्रांस में मैगजीन के दफ्तर में आतंकियों द्वारा पत्रकारों को मारे जाने का समर्थन किया था।इस मैगजीन में तथाकथित तौर पर अल्लाह की फोटो छापने...  और पढ़ें
5 दिन पूर्व
Haresh
Information2media
6

भाषा

   अपने उत्तरी लंडन के इलाके में टहलते हुए मैं अनेकों भाषाओं में होते हुए वार्तालापों के स्वर सुन सकती हूँ। वहाँ रहने वाले भिन्न-भिन्न देशों के लोग अपनी-अपनी भाषाओं में वार्तालाप करते हैं, ...  और पढ़ें
5 दिन पूर्व
Roz Ki Roti
रोज़ की रोटी - Daily Bread
3
Experience of Indian Life
0
Experience of Indian Life
0

झुका दूँ शीश...... पितृ दिवस के अवसर पर

झुका दूं शीश अपना ये बिना सोचे जिन चरणों में ,ऐसे पावन चरण मेरे पिता के कहलाते हैं .................................................................................... बेटे-बेटियों में फर्क जो करते यहाँ ,ऐसे कम अक्लों को वे आईना दिखलाते हैं ...............  और पढ़ें
5 दिन पूर्व
SHALINI KAUSHIK
! कौशल !
4

रिश्तों की उलझनें

रिश्ते बदल जाते हैं आँखों की ओटपरस्नेहकी डगरसे पलटकरतो देखिए।...  और पढ़ें
5 दिन पूर्व
Abhilasha
@Abhi
4


Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन