अपना ब्लॉग जोड़ें

अपने ब्लॉग को  जोड़ने के लिये नीचे दिए हुए टेक्स्ट बॉक्स में अपने ब्लॉग का पता भरें!
आप नए उपयोगकर्ता हैं?
अब सदस्य बनें
सदस्य बनें
क्या आप नया ब्लॉग बनाना चाहते हैं?
नवीनतम सदस्य

नई हलचल

ज़िन्दगी बाकि है जागो

यादों के कारवां जहाँसंग ले जाएँ जाने कहाँरुक जाएँ कंही अगरढूंढे हमे कोई कहाँपल पल का हिसाब मांगोज़िन्दगी बाकि है जागोगुज़रा पल धुवाँ हो जाता हैउस धुवें से दूर भागोमंजिलों पर रस्ते नहीं रुकत...  और पढ़ें
8 वर्ष पूर्व
Shankar M
Thoughtscroll
72

सिंहासन चार पुतली

जम्बुद्वीपे, भरतखंडे, क्षिप्रा तटे, सुन्दर एंव रम्य अवन्ती नगरी थी. क्षिप्रा तट विक्रमादित्य नित नेम से  उज्जैन की राज्यलक्ष्मी की  दीप, धूप, नैवैद्य दिखाकर  पूजा करता था.  अपने विनम्र स...  और पढ़ें
8 वर्ष पूर्व
vivek Patait
हिंदी ब्लॉग विवेक पटाईत
67

"आखिर अन्य धर्मों के लोग कहाँ जाएँ" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")

मैंने मुशायरे सुने हैं!बहुत अच्छा लगता है जब यह सुनता हूँ!"सारे जहाँ से अच्छा हिन्दोस्तां हमारा!"क्या यह प्यारा देशभक्ति गीत किसी हिन्दू ने लिखा था?क्या हिन्दुओं के अतिरिक्त अन्य धर्मों के लो...  और पढ़ें
8 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
125

भ्रष्टाचार जिसे आमतौर पर भ्रष्टाचार ही नहीं समझा जाता

तमाम तरह के भ्रष्टाचार समाज में उजागर होते रहते हैं. आज भ्रष्टाचार समाज में इस क़दर हावी है कि आम आदमी ने भ्रष्टाचार को वर्तमान सामाजिक व्यवस्था का अभिन्न अंग समझ लिया है. आज आए दिन बड़े - बड़े भ्र...  और पढ़ें
8 वर्ष पूर्व
ramprakash anant
जन-विमर्श|Janvimarsh
128

ईमानदार बाल मामाजी की बेईमान यादें-2

आखिरी बार तो मैं उनसे तब मिला था जब उनकी छोटी बेटी की शादी में उनके घर पहली बार गया। तब भी उनकी मानसिक स्थिति अच्छी नहीं थी। लेकिन उससे पहले एक बार जब वे हाथरस आए तो काफ़ी ठीक-ठाक थे। मैं भी बड़ा हो ...  और पढ़ें
8 वर्ष पूर्व
Sanjay Grover संजय ग्रोवर
सरल की डायरी Saral ki Diary
84

Budhha - the Ultimate Nirvana !!!

8 वर्ष पूर्व
vijay kumar sappatti
MY PHOTOGRAPHIC ROMANCE
80

"माँ...!!!"

कितना  खुश  था  मैं  माँजब  मैं  तेरे  अन्दर  था  माँइस  दुनिया  से  बचाकर  कर  रखा  था  तुमनेकितने  प्यार  से  पाला  था  तुमनेकुछ  भी  तो  नहीं  कहा  था  मै...  और पढ़ें
8 वर्ष पूर्व
suman sourabh
..Tum Suman..!!
90

"पिकनिक में मामा-मामी उपहार में मिले" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")

पिकनिक में मामा-मामी उपहार में मिले!यह बात 1966 की है। उन दिनों मैं कक्षा 11 में पढ़ रहा था। परीक्षा हो गईं थी और पूरे जून महीने की छुट्टी पड़ गई थी। इसलिए सोचा कि कहीं घूम आया जाए। तभी संयोगवश् मेरे ...  और पढ़ें
8 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
270

इंटरनेट से पैसा कैसे कमायें

  इंटरनेट से पैसा कैसे कमायेंSMS SENDING JOBS ===============================================================================EARNING PLAN >> INDIANPLAN COST >> Rs.925/-MONTHLY INCOME  >> Rs.45,000/- WORK >> SEND SMS & REFER FRIENDS.MINIMUM PAYOUT >> Rs.500/- ===============================================================================SMSINCOME.IN LATEST NEWS -----(1) अपनी डाय...  और पढ़ें
8 वर्ष पूर्व
uttamkandari
77

What i do for Sara Freder's mail ?

8 वर्ष पूर्व
girish billore
Copy & Pest
137

"चाय..!!"

चाय तो बहुत लोग पीते हैंपर जब तुम पीती होतो बात ही कुछ और हैदोनों हाथों से प्याले कोपकड़कर जब तुम उसेचूमती हो ----तो वो सुर-सुराहट की आवाज़मेरे कानों ने मिठास घोल देती हैचाय को अपने साँसों सेजब ...  और पढ़ें
8 वर्ष पूर्व
suman sourabh
..Tum Suman..!!
98
Copy & Pest
89

ਹਿੰਦੁਸਤਾਨ ਕਾ ਸ਼ਹਜ਼ਾਦਾ

ਹਿੰਦੁਸਤਾਨ ਕਾ ਸ਼ਹਜ਼ਾਦਾ ...  और पढ़ें
8 वर्ष पूर्व
Firdaus Khan
ਹੀਰ
27

ہندوستان کا شہزادہ

ہندوستان کا شہزادہ...  और पढ़ें
8 वर्ष पूर्व
Firdaus Khan
جہاںنُما
30

साहित्य और ब्लॉगिंग हेतु तीन शिखर सम्मान

प्रगतिशील ब्लॉगलेखकसंघ एक ऐसा  अंतर्राष्ट्रीयमंचहैजहां हम आपके प्रगतिशीलविचारोंको सामूहिकजनचेतनासेजोड़करहिंदीकीसमृद्धिकीदिशामेंकार्य करते हुएउसे  एक नयाआयाम ...  और पढ़ें
8 वर्ष पूर्व
Manoj Pandey
मंगलायतन
83

किताब की नायिका एवं महत्वपूर्ण पात्र

मैंजबउनसेमिलाथा, तबसर्दियोंकेदिनथे. तबशुरूकेदिनोंमेंवहमेरेलिएअन्जानाशहरथा. बादछुट्टीकेमैंरेलवेट्रैककेकिनारेबैठासिगरेटफूँकाकरताथा. औरजबमनबेहदउदासहोजायाकरता, तबमैंवापसअपनेकमरे...  और पढ़ें
8 वर्ष पूर्व
ANIL KANT
हसरतसंज
76

इंसान की कहानी

भगवान ने पहले गधे को बनाया – और कहा तुम गधे होगे | तुम सुबह सेशाम तक बिना थके काम करोगे | तुम घास खाओगे और तुम्हारे पास अक्लनहीं होगी और तुम 50 साल जियोगे |”गधा बोला – मै 50 साल नहीं जीना चाहता | येबहुत...  और पढ़ें
8 वर्ष पूर्व
vivek mishra
27

क्रियेटर और क्रियेशन - 2 (न्यूक्लियस)

एटम का राज़ अधूरा है जब तक कि न्यूक्लियस की बात न की जाये। न्यूक्लियस, जो एटम का मरकज़ होता है, बहुत बड़ी निशानी है क्रियेटर की बेमिसाल तख्लीक़ की।बीसवीं सदी की शुरुआत में एक डिस्कवरी हुई। ...  और पढ़ें
8 वर्ष पूर्व
Dr. Zeashan Zaidi
Ya Husain Ya Shah-E-Karbala
79

उलझे रास्तों का नया सफ़र

अभी कुछ दिनों पहले अपने हाथ के कॉर्न के लिए होम्योपथिक डॉक्टर से मिली.....ये हॉस्पिटल विले पार्ले(मुंबई)में है और वहाँ की खास बात ये है कि वो आपकी बीमारी का इलाज करने तक ही मतलब नहीं रखते...वो पहले...  और पढ़ें
8 वर्ष पूर्व
neha sharma
मेरी कहानी
77
कुछ पुरानी यादें... (कविताएं, गीत, भजन, प्रार्थनाएं, श्लोक, अनूदित रचनाएं)
95

बेडियाँ

उलझे है सभी अपनी ही बेड़ियोंमें, दूजोकीबेड़ियोंसेफिरभीखफाहै,डालबेड़ियाँ दूजो केकदमोमें,हरकोईदेखोमुश्कुरारहाहै,लेकिन भूल  सब गए की  दूसरा छोर खुद से बंधा है  आसमांपानेकी आतुरता म...  और पढ़ें
8 वर्ष पूर्व
अखिलेश रावल
"मेरे भाव मेरी कविता"
75

The Three aulia saints of our times !!!

 TAJUDDIN BABA  GAJANAN MAHARAJSAIBABA OF SHIRDI...  और पढ़ें
8 वर्ष पूर्व
vijay kumar sappatti
SAINTS AND SAGES OF INDIA
192

गीत छोड़ गया कोई

साँसों पर जोर नहीं लेकिनहौसला क्या छीनेगा कोईकारवां रुक गया कंही पीछेपर राही चलता रहा कोईक़दमों के निशां नहीं बाकीउसकी मंजिल का नहीं पतायहाँ से गुज़रा जो मुसाफिरपीछे गीत छोड़ गया कोईफूलो...  और पढ़ें
8 वर्ष पूर्व
Shankar M
Thoughtscroll
78

किसी ख़ास के लिए....

तू मेरी चाहत का यूं ही इम्तेहान न ले ओ ज़ालिमतेरे दिल में समंदर सा प्यार न भर दूं तो कहना कुछ ऐसा कर दूंगा की आकिबत(१) में तू ढूंढे मुझेबाहों में टूटने को मजबूर न कर दूं तो कहना ये जो सज संवर के निकल...  और पढ़ें
8 वर्ष पूर्व
surender
"ख़्वाबों का तसव्वुफ़"
96


Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन