अपना ब्लॉग जोड़ें

अपने ब्लॉग को  जोड़ने के लिये नीचे दिए हुए टेक्स्ट बॉक्स में अपने ब्लॉग का पता भरें!
आप नए उपयोगकर्ता हैं?
अब सदस्य बनें
सदस्य बनें
क्या आप नया ब्लॉग बनाना चाहते हैं?
नवीनतम सदस्य

नई हलचल

उत्तरीय उतरे उमड़, उलथ उत्तराखंड-

 उत्तराखंड त्रासदी- कुछ अनुत्तरित सवाल ! पी.सी.गोदियाल "परचेत"  अंधड़ ! फेंकू का धत फोबिया, व्याधि व्यथा विकराल |राल घोंटते गान्धिभक्त, है चुनाव का साल |है चुनाव का साल, विदेशी दौरे छोड़े |चल...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
रविकर
"लिंक-लिक्खाड़"
58

भोजपुरी गीत

6 वर्ष पूर्व
बृजेश नीरज
Voice of Silent Majority
98

नमन नमस्ते नायकों, नम नयनों नितराम-

 (1)नमन नमस्ते नायकों, नम नयनों नितराम |क्रूर कुदरती हादसे, दे राहत निष्काम  |दे राहत निष्काम, बचाते आहत जनता |दिए बगैर बयान, हमारा रक्षक बनता |अमन चमन हित जान, निछावर हँसते हँसते |भूले ना एहसान, ...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
रविकर
"कुछ कहना है"
59

No Title

ज़िन्दगी के पीछे छिपे संघर्षों के आगे इनकी जीत लेती मुस्कराहट हमारी भारतीय महिलायें ...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
SHIKHA KAUSHIK
भारतीय नारी
54

:अब पछताए क्या होत-[कहानी]

[कहानी] शालिनी  कौशिक :अब पछताए क्या होतकैप्शन जोड़ेंविनय के घर आज हाहाकार मचा था .विनय के पिता का कल रात ही लम्बी बीमारी के बाद निधन हो गया .विनय के पिता चलने फिरने में कठिनाई अनुभव करते थे ...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
SHALINI KAUSHIK
WOMAN ABOUT MAN
90

Horse circus - Circo dei Cavalli - घोड़ों की सर्कस

Rome, Italy: "Via Appia" is a two thousand years old road. It was while building this road that Spartacus and other thousands of slaves had revolted. Located in the outskirts of the city, few tourists reach here. On the side of the road is the roman stadium called "Messenzio's circus", where they used to have horse and chariot races, as was shown in the film Benhur. The open area covered with green grass and old ruins is very beautiful. The word "circus", a round place for entertainment, origina...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
SUNIL DEEPAK
Chayachitrakar - छायाचित्रकार
47

उत्तर दिअ

बाल कविता-79 * उत्तर दिअ *धरती किए गोल गोल छै, चक्का किए गोल ?लाला जीक धोधि किए मोटू गोल-मटोल ?प्रश्न ई सूनि लिअ, यौ सरजी उत्तर दिअमनुखकेँ दू-दू टा हाथ, गायक हाथ बिलाएल ?साँढ़केँ चारि-चारि टा टाँग, साँप...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
AMIT MISHRA
46

चुनावी साल में नेता जी

आज हर ओर खुदी है सड़कखड्डों मिट्टी की है भरमारक्योंकि चुनाव को रह गया है एक सालइसलिए हरेक नेता जी को सड़क अब टूटी नज़र आने लगी हैअपनी बेरूख़ी जनता अब भाने लगी हैअब सफाई वाला ,कूड़ा उठाने वाला...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
सरिता भाटिया
गुज़ारिश
53

a beautiful bird in the way of Bijli mahadev,सुंदर पंछी बिजली महादेव के रास्ते में

a beautiful bird in the way of Bijli mahadev,सुंदर पंछी बिजली महादेव के रास्ते मेंरामशिला पहुंचने के बाद मैने बिजली महादेव का रास्ता पूछा तो एक आदमी ने मुझे बताया कि बिजली महादेव के लिये रामशिला के इस मेन पुल के ठीक नीच...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
Manu
yatra (यात्रा ) मुसाफिर हूं यारो .............
92

बहुत बंट चुके हम अब और न बांटो ( चर्चा - 1288 )

 आज की चर्चा में आपका स्वागत है उत्तराखंड में जो कहर कुदरत ने बरपाया है वो तो दुखद है ही लेकिन उससे ज्यादा दुखद है इसके लेकर हो रही राजनीति । मोदी-राहुल, मोदी-राहुल  ये सुन-सुनकर कान प...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
167

गीत बहुत बन जाएंगे

यूँ गीत बहुत बन जाएंगे लेकिन कुछ ही गाए जाएंगे कहीं सुगंध और सुमन होंगे  कहीं भक्त और भजन होंगे रीती आँखों में टूटे हुए सपने होंगे बिगड़ेगी बात कभी तो उसे बनाने के लाख जतन होंगे न जाने इस ज...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
darshan jangra
प्रेम के फूल
66

स्वराज या गुंडाराज – मर्ज़ी है आपकी क्योंकि देश है आपका

अपनी बात को मैं इन दो पंक्तियों के माध्यम से आरम्भ कर रहा हूँ कुछ ज़बानों पर हैं ताले, कुछ तलवों में हैं छालेपर कहते हैं कहने वाले, के स्वराज चल रहा है किस हाल से हमारा यह समाज गुज़र रहा है ? '...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
तुषार राज रस्तोगी
तमाशा-ए-जिंदगी
73

Important for Dancers

6 वर्ष पूर्व
Rajat
Sms for Everyone
67

सुसाइड नोट-एक लघु कथा

सर्वाधिकार सुरक्षित [do not copy]'' विप्लव हमें शादी कर लेनी चाहिए ..'' सुमन ने विप्लव के कंधें पर हाथ रखते हुए कहा .विप्लव झुंझलाते हुए बोला -'' ..अरे यार .. तुम यही बात लेकर बैठ जाती हो ...कर लेंगें ''  सुमन उसक...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
SHIKHA KAUSHIK
भारतीय नारी
52

NEW BLOG-RITU'S BLOG

SHE IS Ritu  .SHE SAID-''Think Why Seasons are changing ? Just Because of us and I am Ritu (Season). Seasons are changing And waves are crashing And stars are falling all for us Days grow longer and nights grow shorter I can show you I'll be the one My Dear Mom.''HER BLOG'S NAME IS - [ .] STRANGE BUT TRUE .ONLY A POINT [. ] .HER BLOG'S URL DESCRIBE THIS POINT VERY WELL -http://firstfemaleforum.blogspot.in/.EVERY POST GIVES A NEW VIEW ABOUT WOMAN .JUST SEE -NOW WHAT MORE I CAN TELL...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
SHIKHA KAUSHIK
हम हिंदी चिट्ठाकार हैं
126

कसाईबाडा

आज के वर्तमान अंधाधुंध आधुनिकरण परिदृश्य में पैसा और व्यवस्था ने समाज में एक ऐसी दौड़ शुरू करा दिया है | जहा समाज का मध्यम वर्ग का तबका अपना स्वाभिमान , सम्मान , ईमान तक बेच डालने में हिचक महसूस ...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
loksangharsha
लो क सं घ र्ष !
54

Please tell the name....

जरा .....नाम ही बता दीजिये ........दोस्तों ,दो comments पढिएगा ....आप ने जो इसके लाभ बताए वह बहुत अच्छा किया. क्या सर मैं आप से यह जान सकता हूँ कि क्या आप ने पहले फेसबुक फैन पेज बनाया और बाद में badge लगाया.&n...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
dr.neeraj yadav
Achhibatein
81

क्या राजनीति करने के लिए इतना निचे गिरना भी जरुरी है !!

उतराखण्ड आपदा के बाद राहत कार्यों पर जिस तरह से राजनितिक सोच हावी है वो यह दर्शाती है कि हमारे राजनितिक दल कितनें निचे गिर सकती है ! हर कोई राहत और बचाव कार्यों के जरिये अपनी राजनैतिक चालें चलन...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
पूरण खण्डेलवाल
54

शब्‍द

क्लिष्‍ट शब्‍दों को काम में लेने वाला व्‍यक्ति आपको जानकारी देने का नहीं बल्कि प्रभावित करने का प्रयास कर रहा होता है। --- ओ मिलर...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
रौशन जसवाल विक्षिप्‍त
27

सहिष्णुता

यह एक भ्रामक धारणा है कि भड़ास या क्रोध को रिलिज करने से तनाव मुक्ति मिलती है। उलट, क्रोध तो तनाव के अन्तहीन चक्र को जन्म देता है। क्योंकि भड़ास निकालने, आवेश अभिव्यक्त करने या क्रोध को रिलिज करन...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
हंसराज 'सुज्ञ'
75
मेरी बात तेरी बात...
251

लंका सहित जला डाला रावण का सब अभिमान

सर्वाधिकार सुरक्षित संकट !में हैं  प्राण   ,  हमको कष्ट महान ,आओ कृपानिधान  ! संकटमोचन श्री हनुमान*********************************श्रीराम -सुग्रीव मित्रता आपने करवाई थी ,बाली- वध कर श्रीराम ने मित्रता निभा...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
SHIKHA KAUSHIK
30

सुसाइड नोट-एक लघु कथा

सर्वाधिकार सुरक्षित [do not copy]'' विप्लव हमें शादी कर लेनी चाहिए ..'' सुमन ने विप्लव के कंधें पर हाथ रखते हुए कहा .विप्लव झुंझलाते हुए बोला -'' ..अरे यार .. तुम यही बात लेकर बैठ जाती हो ...कर लेंगें ''  सुमन उसक...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
SHIKHA KAUSHIK
मेरी कहानियां
64

प्रकृति ने की क्रिडा तो उपजी पीड़ा...(कुँवर जी)

जब तक चली तो खूब खेलामानव प्रकृति संगऔर जब प्रकृति ने की क्रिडातो उपजी पीड़ा,विश्वाश कही घायल पड़ा लोगो से नजरे चुरा कराह रहा है,श्रद्धा किसी पेड़ की टहनी में अटकी हुई सीकिसी कीचड़ में दबे चीथड़े ...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
hardeep rana
kunwarji's
75

रविवार

दिन रविवार,सब कुछ शांत, सन्नाटे सांय सांय कर रहे हैं,घर के किसी कोने में हवा रुकी हुई है,लम्बी लम्बी सांसे भरती हुई,किताबें बिखरी पड़ी हैं,कॉफ़ी का मग बिस्तर के एक कोने पे पड़ा,न जाने क्या बडबडा र...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
SHIKHA KAUSHIK
भारतीय नारी
52

वो मिला था उन दिनों में मुझे.............

वो मिला था उन दिनों में मुझे जब वो चलते हुए ख्वाब जैसा थाउसकी आँखें भी गुनगुनाती थी वो एक जबाब जैसा थाउसके गेसुओं से छाँव होती थी वो मूरतें सबाब जैसा थालोग करते थे गुफ्तगू उसकी उसका होना ख़िताब ...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
Anupam
मेरी कविताएँ...........................
48

यूँ ही बेसबब न फिरा करो

यूँ ही बे-सबब न फिरा करो, कोई शाम घर में भी रहा करोवो ग़ज़ल की सच्ची किताब है, उसे चुपके-चुपके पढ़ा करोकोई हाथ भी न मिलाएगा, जो गले मिलोगे तपाक सेये नये मिज़ाज का शहर है, ज़रा फ़ासले से मिला करोअभी ...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
darshan jangra
प्रेम के फूल
114

How to Create Folder "CON"

Ever tried to create a folder "CON" or "AUX" or "NUL". Tried now??? - not working :) Here you go, a simple method to stop your anxiety Rename folder from the right click option........ Now press alt and press 255... press 255 frm the right side of the key bords i.e, Num pad. where only numbers are given..... now write con and then press enter.....yayyy!! you ll see a con folder in ur pc and also you can delete it easily....  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
JHAJJAR IT HUB
Jhajjar IT HUB
110

माँ - एक एहसास ...

उदासी जब कभी बाहों में मुझको घेरती है तू बन के राग खुशियों के सुरों को छेड़ती है तेरे एहसास को महसूस करता हूं हमेशा हवा बालों में मेरे उंगलियां जब फेरती है चहल कदमी सी होती है यकायक नींद...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
दिगंबर नासवा
24

खिचड़ी

विहनि कथा-105 खिचड़ीशिक्षा विभागक अध्यक्ष इस्कूलक दौरापर निकललनि ।एकटा इस्कूलपर छात्रक संख्याँ देख हेडमास्टरपर तमसा गेलाह ।फेर छात्रक कमीक मादे सब छात्रसँ कारण पुछलनि ।एकटा छात्र ठाढ़ भऽ उत...  और पढ़ें
6 वर्ष पूर्व
AMIT MISHRA
39


Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन