अपना ब्लॉग जोड़ें

अपने ब्लॉग को  जोड़ने के लिये नीचे दिए हुए टेक्स्ट बॉक्स में अपने ब्लॉग का पता भरें!
आप नए उपयोगकर्ता हैं?
अब सदस्य बनें
सदस्य बनें
क्या आप नया ब्लॉग बनाना चाहते हैं?
नवीनतम सदस्य

नई हलचल

शांत रस रौद्र में प्रचंड हो बदल रहा !

शांत रस रौद्र में प्रचंड हो बदल रहा !आस्था -अनास्था  का द्वन्द उर में चल रहा ,आस के ही गर्भ में निराशा भ्रूण पल रहा ,भक्ति -भाव भक्त की चिता के संग है जल रहा ,शांत रस रौद्र में प्रचंड हो बदल रहा !*********...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
SHIKHA KAUSHIK
WORLD's WOMAN BLOGGERS ASSOCIATION
59

Adobe Photoshop CS6 Extended Final Portable

आज आपके लिए एक बहुत ही बडिया सॉफ्टवेयर लेकर आया हु जो आपकी फोटो को बड़िया लुक देगा इतना ही नही जब भी आप अपने कैमरे से कोई फोटो खीचते है तो वो फोटो या तो साफ नही आती या फिर उसमे रोसनी  कम होती है आप ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
bheemraj
internet ki bate
111

तन्वी श्यामा शिखरि दशना पक्व बिम्बाधरोष्ठी मध्ये क्षामा चकित हरिणी प्रेक्षणा निम्ननाभि।

DrArvind Mishraसंस्कृत न पढ़ पाने की पीड़ा से ऐसे ही दो चार होना होता है किसी बहुश्रुत श्लोक का अर्थ जानने के लिए भी दर दर भटकना पड़ता है -कालिदास के इस श्लोक का पूरा अर्थ जानने में कृपया संस्कृत के विद...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
63

पाक की नापाक हरकतों का जवाब देने की वजहे - सुधीर मौर्य

पाकिस्तान के अवामी लीग के नेता का भारत को धमकी देना, उनका कहना की अगर भारत ने जंग छेड़ी तो फिर ना तो भारत के मंदिरों म...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
सुधीर मौर्य
2

नोर

138. नोर- यै काकी, अहाँ केहन मौगी छी ! एँ यै मौगीक करेज तँ कमजोर मोम सन होइत छै आ अहाँक तँ पाथरोसँ कठोर बुझना जाइत अछि ।- तूँ एना किए बाजै छें रौ छौड़ा ?- एँ यै, एतऽ अहाँक आगूमे अहाँक पतिक लहास परल अछि आ अह...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
AMIT MISHRA
41

सुधीर मौर्य

लम्स - सुधीर मौर्य
लम्स - सुधीर मौर्य
5 वर्ष पूर्व
सुधीर मौर्य
0

सुधीर मौर्य

हो न हो   (कविता   संग्रह) - सुधीर मौर्य
हो न हो (कविता संग्रह) - सुधीर मौर्य
5 वर्ष पूर्व
सुधीर मौर्य
0

सच्ची भारतीयता के संस्कार दें नौनिहालों को (आलेख)

सच्ची भारतीयता के संस्कार दें नौनिहालों कोकिसी भी राष्ट्र के सर्वतोन्मुखी विकास के लिये तथा आजादी की शमा को रोशन रखने के लिये यह अत्यंत आवश्यक है कि बच्चों में देश-प्रेम की भावना विकसित की ज...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
डॉ. वी. के. पाठक
78

सुधीर मौर्य

अधूरे पंख (कहानी  संग्रह) - सुधीर मौर्य
अधूरे पंख (कहानी संग्रह) - सुधीर मौर्य
5 वर्ष पूर्व
सुधीर मौर्य
1

सुधीर मौर्य

 आह (ग़ज़ल संग्रह) - सुधीर मौर्य
आह (ग़ज़ल संग्रह) - सुधीर मौर्य
5 वर्ष पूर्व
सुधीर मौर्य
0

Samsung Galaxy S4 vs Nokia Lumia 920: A Comparison

The quest for gaining the supreme position in the smart phone category has taken a new route with Nokia introducing their new windows smart phone models into the market. With Sony and Samsung dominating the market for quite sometime it was always going to be Nokia to come up with some fresh ideas if they want to hold their feet on the market yet again. And they came back ever so strong with the inclusion of some classy models. But Samsung had already planned their next move to counter this leap ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
lalit banjara
Tech 2 Android Reviews
273

5 सितम्बर को मध्यप्रदेश के अतिथि शिक्षक काला दिवस के रूप में मनाएंगे।

अतिथि शिक्षक की नियमितीकरण की मांग नहीं मनी गई तो 5 सितम्बर को मध्यप्रदेश के अतिथि शिक्षक काला दिवस के रूप में मनाए...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
अतिथि शिक्षक मंच
23

छात्र संघ चुनाव में विजयी के समस्त राजपुरोहित युवाओ व् युवतियों को ब्रह्मास्त्र सेवादल की और से उनका सम्मान किया जायेगा

 छात्र संघ चुनाव में विजयी राजस्थान के समस्त राजपुरोहित युवाओ व् युवतियों को ब्रह्मास्त्र सेवादल की और से उनका सम्मान किया जायेगा  ब्रह्मास्त्र सेवादल की और से छात्र संघ चुनाव में विजयी ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
  Sawai Singh Rajpurohit
RAJPUROHIT SAMAJ
39

"सम्बन्ध" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

मित्रों!अपने काव्य संकलन सुख का सूरज सेएक गीत"सम्बन्ध"सम्बन्ध आज सारे, व्यापार हो गये हैं।अनुबन्ध आज सारे, बाजार हो गये हैं।।न वो प्यार चाहता है, न दुलार चाहता है,जीवित पिता से पुत्र, अब अधिकार ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
98

टुंडा इलाज कराने आया है

बगैर शरा कभी शेख थूकता भी नही। मगर अँधेरे उजाले वह चूकता भी नहीं।।                                                      -अकबर इलाहाबादी अकबर इलाहाबादी का यह शेर भारत में व...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
loksangharsha
लो क सं घ र्ष !
43

जगत मातु पितु सम्भु भवानी , तेहिं श्रृंगार न कहहु बखानी।

DrArvind Mishraसंस्कृत न पढ़ पाने की पीड़ा से ऐसे ही दो चार होना होता है किसी बहुश्रुत श्लोक का अर्थ जानने के लिए भी दर दर भटकना पड़ता है -कालिदास के इस श्लोक का पूरा अर्थ जानने में कृपया संस्कृत के विद्व...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
65

नरेन्द्र दाभोलकर को किसने मारा

डाक्टर नरेन्द्र दाभोलकर की क्रूर हत्या (20 अगस्त 2013), अंधश्रद्धा व अंधविश्वास के खिलाफ सामाजिक आंदोलन के लिए एक बड़ा आघात है। पिछले कुछ दशकों में तार्किकता और सामाजिक परिवर्तन को बढ़ावा देने क...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
loksangharsha
लो क सं घ र्ष !
44

चूजा के पीछे पड़ा, भाषण प्रवचन भ्रष्ट

यूपी के सपा नेता कॉल गर्ल्स के साथ मस्ती करते गिरफ्तारचूजा के पीछे पड़ा, भाषण प्रवचन भ्रष्ट |कोई गोवा बीच पर, गया मिटाने कष्ट |गया मिटाने कष्ट, मस्तियाँ मार बराबर |गुंडागर्दी देख, डरा जाता है रव...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
रविकर
"लिंक-लिक्खाड़"
50

"इल्म रहता पायदानों में" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’)

छलक जाते हैं अब आँसू, ग़ज़ल को गुनगुनाने में।नही है चैन और आराम, इस जालिम जमाने में।।नदी-तालाब खुद प्यासे, चमन में घुट रही साँसें,प्रभू के नाम पर योगी, लगे खाने-कमाने में।हुए बेडौल तन, चादर सिमट ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
46

नरेन्द्र मोदी की पहचान

काँग्रेस और बिकाऊ मीडिया नरेन्द्र मोदी को ‘साम्प्रदायक’ कह रहै हैं तो मुस्लिम वोट हासिल करने के लिये बी जे पी उन्हें ‘धर्म निर्पेक्ष’ बनने के लिये मजबूर कर रही है। ‘साम्प्रदायक’ और ‘धर्म नि...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Praveen Gupta
हिन्दू - हिंदी - हिन्दुस्थान - HINDU-HINDI-HINDUSTHAN
124

मधुशाला [10 से 15]

जलतरंग बजता, जब चुंबन करता प्याले को प्याला,वीणा झंकृत होती, चलती जब रूनझुन साकीबाला,डाँट डपट मधुविक्रेता की ध्वनित पखावज करती है,मधुरव से मधु की मादकता और बढ़ाती मधुशाला।।११।मेहंदी रंजित म...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
kuldeep thakur
कविता मंच।
53

बाबा हरभजन सिंह : एक अशरीर भारतीय सैनिक

बाबा हरभजन सिंह : एक अशरीर भारतीय सैनिक फोटो- राकेश कुमार श्रीवास्तव कौन कहता है कि मौत आयी तो मर जाऊँगामैं  तो  दरिया  हूं,  समन्दर में  उतर जाऊँगा- अहमद नदीम क़ासमीक्या आपने क...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
राकेश श्रीवास्तव
66

चांद-सी उज्ज्वल कविताएं

फ़िरदौस ख़ानमन  की कोमल भावनाओं को शब्दों में पिरोना ही काव्य कहलाता है. कविताएं दो तरह की होती हैं, एक छंदयुक्त और दूसरी मुक्तछंद. दरअसल, छंद कविताओं को प्रभावी बनाते हैं और इन कविताओं को गा...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Firdaus Khan
Firdaus Diary
33

No Title

कलयुग में कान्हा________________________आज देखो हर ओर हर आँखे रो रही है ,शायद कान्हा तेरी रूह सो रही है !कैसा ये अनिश्चितता का दौर है ,चारो ओर अराजकता का शोर है !दुखी सुदामा हर गली में बिलखता है ,कंश राज का अब बोल...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
सुनीता शर्मा
108

अभिनेत्री मधुबाला [नायक / नायिकाओं द्वारा गाये गाने - 2]

 सौन्दर्य की मूर्ति फिल्म अभिनेत्री मधुबाला ने एक "फिल्म पुजारी" (1946) के लिए गाना गाया था. आप भी सुनिये... Song - Bhagwan Mere Gyan Ke Deepak ko Jala De  ==*==*==*==*==*==*==*==*==*==*==*==*== *==*==*====*==*====*==*====*==*==*==*==*==*==*==*==*==*==*==*== *==*==*====*==*====*==*==...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
prakash govind
सिनेमा गीत-संगीत
323

मीडिया दिखाने पर तुली हुई है कि भारत में शोषित केवल मुस्लिम है चलो अब हम सच्चाई बताते हैं ।

मीडिया दिखाने पर तुली हुई है कि भारत में शोषित केवल मुस्लिम है चलो अब हम सच्चाई बताते हैं ।-मोहम्मद गौरी का आक्रमण ।भारत की प्रजा के साथ लूटपाट ।महमूद गजनवी का नरसंहार ।सोमनाथ मंदिर के शिवलिं...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Kshitij Tiwari (Lucky)
क्षितिज तिवारी (Lucky) सत्य का साथ देने वाला ...
50

ओस

बल्रराम अग्रवालरात्रि की शीत का अभाव पाकर सूर्य समय से कुछ पहले ही संध्या के आंचल में छिप जाना चाहता था।शरीर के ताप को चीर देने वाली शीत ने हल्के अन्धकार में ही नगर के मकानोंके द्वार बंद कर दि...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
bhagirath
ज्ञानसिंधु
92

Sunder Sapna: गीलोय [अमृता] के औषधीय गुण

Sunder Sapna: गीलोय [अमृता] के औषधीय गुण...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
janki oli
Sunder Sapna
75

Sunder Sapna: Sunder Sapna: नीबू के औषधीय गुण

Sunder Sapna: Sunder Sapna: नीबू के औषधीय गुण...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
janki oli
Sunder Sapna
74

रहमत

रहमत जब खुदा की हो तो बंजर भी चमन होता..खुशिया रहती दामन में और जीवन में अमन होतामर्जी बिन खुदा यारों  तो   जर्रा भी नहीं हिलता खुदा जब  रूठ जाये तो मय्यसर न कफ़न होतामदन मोहन सक्सेन...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Madan mohan saxena
मदन मोहन सक्सेना की रचनाएँ
51


Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन