अपना ब्लॉग जोड़ें

अपने ब्लॉग को  जोड़ने के लिये नीचे दिए हुए टेक्स्ट बॉक्स में अपने ब्लॉग का पता भरें!
आप नए उपयोगकर्ता हैं?
अब सदस्य बनें
सदस्य बनें
क्या आप नया ब्लॉग बनाना चाहते हैं?
हमारे विषय
नवीनतम सदस्य

नई हलचल

Follow by email

एक नया Feature  ब्लॉगर में जोड़ा गया है क्या आपने देखा है हम अब तक फीडबर्नर का Subscription का विडगेट लगाते थे पर अब उसे लगाने की जरुरत नहीं होगी हम यह नया विजट लगाकर भी ईमेल से सबस्क्राइब कर सकते हैव इसके द्...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Devendra Gehlod
DGfreebies DG's Blog
106
शिर्डी के साईबाबा .......SHRI SAIBABA OF SHIRDI
107

हाय! वासना क्या कहना !

एक रोटी का टुकड़ा जब इज्जत के वदले प़ता हैसच पूछो कि दोस्त मेरे, मुझे एक नया साल दिख जाता हैएक दशक मे कितने वदले ,नर नग्न पुरुष नाना वदले इस नग्न संस्कृति की खातिर, जब कानून नया लिख जाता है ..... सच प...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
बुंदेलखंड
बुन्देली साहित्य कला आकादमी
79

Make a folder without Name

जब भी हम कोइ नया फोल्डर बनाते है तो उसका डिफाल्ट नाम New Folder रहता है हम उसे कोई और नाम भी दे सकते है पर अगर आप चाहे तो बिना नाम का फोल्डर भी बना सकते है जी हा बिना नाम का फोल्डर | बेनाम फोल्डर बनाए के लि...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Devendra Gehlod
DGfreebies DG's Blog
95

"श्रीमद्भागवद्गीता से ..............."

श्रीमद्भागवद्गीता के सातवें अध्याय के २१ वें श्लोक में भगवान प्रत्येक देवता के प्रति श्रद्धा का बखान कर रहे हैं। स्वामी रामसुखदास जी ने इसकी बहुत ही सुंदर व्याख्या की है ।श्लोकजो- भक्त जिस -...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
68

हम क्यों झुके किसी के सामने ?

हम हमारे ईमान पर यदि सही है, यदि हम हमारे काम पर सही है, हम हमारे नाम पर यदि सही है,  यदि हम सभी जगह सही है और निर्दोष है, तो फिर हम क्यों किसी के सामने झुकें?झुकना जीवन की निसानी है, पर ज्यादा&...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
manoj charan
BABOSA
77

some new feature of Blogger

ब्लागिंग करना काफी लोगो को पसंद आता है और पिछले कुछ वर्षो में ब्लॉगर की संख्या काफी बढ़ गयी है इसी को ध्यान रखते हुए ब्लॉगर भी काफी नयी सुविधाए और इंटरफेस उपलब्ध करता रहता है | इसी को देखते हुए इ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Devendra Gehlod
DGfreebies DG's Blog
93

आदत

हर रोज़ सोने की आदत सी हो गयी है  आँखे  खुलीं है और रोने की आदत सी  हो गयी हैक्यों शोलो को भड़कने नहीं देते ...................... धुआँ तो उठते देखता हूँ पर  चिंगारी बुझाने की आदात सी हो गयी है  भले ही ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Kshitij Ranjan
क्षितिज
83

एक अधूरी बुनावट

                          सुनहरे ख्वाबों की रेशमी डोर हाथ से छूटी जाती है,                          उधर तुमने मुँह फेरा, इधर ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Ritika Rastogi
फुर्सत के पल..
85

जापान के साथ हमारी सहानुभूति है पर संभल जाओ !

जापान में भूकंप आया तो मेरे दोस्तों ने मुझे बताया की जापान तो बर्बाद हो गया है,   मैंने कारन पूछा  तो पता चला कि वहां पर भूकंप आया है. मैंने कहा कि इस भूकंप से जापान का कुछ नहीं बिगड़े...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
manoj charan
BABOSA
79

"अपना उत्तराखण्ड" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")

9  नवम्बर सन् 2000 को   भारत के 27वें राज्य के रूप में उत्तराखण्ड राज्य की स्थापना हुई थी! उत्तराखण्ड राज्य का गठन   -   9 नवम्बर, 2000 कुल क्षेत्रफल                ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
73

नश्वरता

पर्वतों की ऊंचाइयों मेंकहीं खोकर रह जाएगासागर की गहराइयों में दफन होकर रह जाएगाउन्मुक्त आंचल का विस्तार कभी तूफान समेट लेंगेकभी तपते सूरज मेंयह अस्तित्व पिघल जाएगाकितना कुछ भी आर्जि...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Varsha Thakur
तमसो मा ज्योतिर्गमयः
59

बिन्‍दु जी के दुर्लभ भजन ।।

यह कवि श्री गोस्‍वामी बिन्‍दु जी के दुर्लभ भजनों में से एक है जिसे कवि श्री आर्त ने गाया है  ।सुनिये और आनन्‍द लीजिये  ।।...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
SANSKRITJAGAT
महाकवि वचन-MAHAKAVI VACHAN
242

विनय पचीसी - विनय कुंज ।। वीडियो

कवि आर्त कृत विनयपचीसी अब MP3 और  MP4 में भी उपलब्‍ध है  ।सबसे विशिष्‍ट बात यह है कि इसको कवि आर्त ने स्‍वयं ही गाया है  ।  तो अब सुनिये और डाउनलोड कीजिये  ।।...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
SANSKRITJAGAT
महाकवि वचन-MAHAKAVI VACHAN
85

Mayawati Kya Chahti hai.

Mayawati ne mulayamsing ke aandolan ko galat bataya hai, kya is desh me saidhantik virodh karna galat hai. kya desh aaj bhi gulam hai ? Aaj agar Gandhiji hote to kya hota, syad unhe bhi aise peeta jata. hum mulayamsingh ke saath hai, is sangrash me. ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
manoj charan
BABOSA
71

धोखा हुई गवा हमका मुख्यमंत्री दरबार में !

राजस्थान मुख्यमंत्री ने नरेगा कार्मिको के साथ धोखा किया है. जब हमारे नेताओं को कुछ उचित समाधान करने का आश्वासन दिया ही था तो फिर सरकार के सामने क्या मजबूरी है की एक तरफ तो नए कर लगा रही है, और ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
manoj charan
BABOSA
69
शिर्डी के साईबाबा .......SHRI SAIBABA OF SHIRDI
96

श्री साई सच्चरित्र - अध्याय 51

उपसंहारअध्याय – 51 पूर्ण हो चुका है और अब अन्तिम अध्याय (मूल ग्रन्थ का 52 वांअध्याय) लिखा जा रहा है और उसी प्रकार सूची लिखने का वचन दिया है, जिसप्रकार की अन्य मराठी धार्मिक काव्यग्रन्थों में विषय ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
vijay kumar sappatti
शिर्डी के साईबाबा .......SHRI SAIBABA OF SHIRDI
116

श्री साई सच्चरित्र - अध्याय 50

 काकासाहेब दीक्षित, श्री. टेंबे स्वामी और बालाराम धुरन्धर की कथाएँ ।मूल सच्चिरत्र के अध्याय 39 और 50 को हमने एक साथ सम्मिलित कर लिखा है, क्योंकि इन दोनों अध्यायों का विषय प्रायः एक-सा ही है ।प्र...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
vijay kumar sappatti
शिर्डी के साईबाबा .......SHRI SAIBABA OF SHIRDI
79

श्री साई सच्चरित्र - अध्याय 49

हरि कानोबा, सोमदेव स्वामी, नानासाहेब चाँदोरकर की कथाएँ ।प्रस्तावनाजब वेद और पुराण ही ब्रहमा या सदगुरु का वर्णन करने में अपनीअसमर्थता प्रगट करते है, तब मैं एक अल्पज्ञ प्राणी अपने सदगुरु श्री...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
vijay kumar sappatti
शिर्डी के साईबाबा .......SHRI SAIBABA OF SHIRDI
94

श्री साई सच्चरित्र - अध्याय 48

भक्तों के संकट निवारणशेवड़े औरसपटणेकर की कथाएँ ।अध्याय के प्रारम्भ करने से पूर्व किसी ने हेमाडपंत से प्रश्न किया किसाईबाबा गुरु थे या सदगुरु ।इसके उत्तर में हेमाडपंत सदगुरु के लक्षणोंका न...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
vijay kumar sappatti
शिर्डी के साईबाबा .......SHRI SAIBABA OF SHIRDI
96

श्री साई सच्चरित्र - अध्याय 47

 पुनर्जन्मवीरभद्रप्पा और चेनबसाप्पा (सर्प व मेंढ़क) की वार्ता ।गत अध्याय में बाबा द्घारा बताई गई दो बकरों के पूर्व जन्मों कीवार्ता थी ।इस अध्याय मे कुछ और भी पूर्व जन्मों की स्मृतियों का वर...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
vijay kumar sappatti
शिर्डी के साईबाबा .......SHRI SAIBABA OF SHIRDI
98

में भी बम फोड़ दू मेरे साथ अन्याय हो रहा हे

बम फ़ोड्ने से निर्दोशो को मारने से क्या किसी समस्या का समाधान हो जायेगा.अन्याय ओर शोशण कोन नही कर रहा हे .पर खुद के द्वारा किया गया अन्याय नजर नही आता. आतन्क्वादी अन्याय के खिलाफ़ नही लड रहे वो तो ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
rakesh jain
आउट आफ़ बाक्स
62

थैली के चट्टे-बट्टे

जितना अपने चुनावी दांव-पेंच और मतदाताओं को उल्लू बना सकने में गंभीरता अपनाई और दिमाग लगाया जाता है उतना यदि देश के लिये कांग्रेस सोचे तो सच में आश्चर्यजनक बदलाव देखने को मिल सकते हैं, किंतु अफ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
amitabh shrivastava
अमिताभ
85

हिंदी ब्लॉगिंग को अभी सही और सकारात्मक दिशा की दरकार

हिंदी ब्लॉगिंग जिस प्रकार ७ वर्ष की अल्पायु में कामयाबी की नयी परिभाषा गढ़ने में कामयाब रही है , उससे एक सकारात्मक संकेत प्राप्त होता है कि आने वाले समय में यह द्रुत गति से आगे बढ़ेगी ! आज हिंदी ...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Manoj Pandey
मंगलायतन
79

वह...................

आँखे खुलते ही उसे नज़र आते हैं अपने बच्चे .. उन्हें खिलाना ,पिलाना ,सुपोषित संस्कृत कर मनुष्य बनाना ...माँ ,बेटी ,बहन ,पत्नी ,सखी इन सब रिश्तो से उसका अपना व्यक्तित्व मुखरित होता हैं ,हर रिश्ता उसके...  और पढ़ें
7 वर्ष पूर्व
Dr.Radhika Budhkar
आरोही
63


Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन