अपना ब्लॉग जोड़ें

अपने ब्लॉग को  जोड़ने के लिये नीचे दिए हुए टेक्स्ट बॉक्स में अपने ब्लॉग का पता भरें!
आप नए उपयोगकर्ता हैं?
अब सदस्य बनें
सदस्य बनें
क्या आप नया ब्लॉग बनाना चाहते हैं?
हमारे विषय
नवीनतम सदस्य

नई हलचल

No Title

मंजिल पाने के लिए बढ़ते सभी नकरात्मक सोच से उलझते कई फौलादी हौसलों से मिलती राहे नयी सकरात्मक चितन से मिटते भ्रम कई ****************सुनीता ****************हितोपदेश में निहित व्यक्ति का मन:स्तिथि कर्मश...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
ATUL WAGHMARE
0

No Title

मंजिल पाने के लिए बढ़ते सभी नकरात्मक सोच से उलझते कई फौलादी हौसलों से मिलती राहे नयी सकरात्मक चितन से मिटते भ्रम कई ****************सुनीता ****************हितोपदेश में निहित व्यक्ति का मन:स्तिथि कर्मश...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
सुनीता शर्मा
73

Richa Anirudh : " The golden soul of Zindegi Live"

Richa Anirudh is an Indian prime time news anchor with IBN7 Television channel. whose smile is as pure as the Gold and beauty is as beautiful as the Rainbow. Now-a-days one of the prime and the prettiest name to be searched in the father of the search engine called Google. It will be more than correct if I will say, She is the main reason behind the birth of Aamir khan hosted Satyamev Jayate!! Many believes, if you take Richa Anirudh out of Zindagi Live and put Aamir khan in her place it becomes...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Rishikesh Meena
Rishikesh Meena
95

चढ़े वासना ज्वार, फटाफट हो जा फारिग

दामि‍नी.....नहीं मि‍लेगा तुम्‍हें न्‍याय रश्मि शर्मा  रूप-अरूप बालिग़ जब तक हो नहीं, चन्दा-तारे तोड़ ।मनचाहा कर कृत्य कुल, बाहें रोज मरोड़ ।बाहें रोज मरोड़, मार काजी को जूता ।अब बाहर भी मूत, मोहल...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
रविकर
रविकर-पुंज
105

राष्ट्रगान

हम क्या थे,हम क्या हो गए इसे उसे दोष देते हुए अपनी ही मंडी में नीलाम हो गए !देश के लिए बने गीत जब ज़ुबान से निकलते थे देश से जुड़े होने का गर्व होता था ....इतने विष बाण चले ........ अब अपनी सोच पर ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Ravindra Prabhat
वटवृक्ष
67

मेरा लक्ष्य

                           इसी से अपने  लक्ष्य को पता  नहीं हूँ,                           मैं सच कहने से कभी घबड़ाता नही हूँ।                              &nbs...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
ATUL WAGHMARE
0

मेरा लक्ष्य

                           इसी से अपने  लक्ष्य को पता  नहीं हूँ,                           मैं सच कहने से कभी घबड़ाता नही हूँ।                              &nbs...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Rajendra kumar
भूली-बिसरी यादें
95

Neelganga to patal garoli ,नीलगंगा से पाताल गैरोली ,

नीलगंगा पार करने के बाद लगातार चढाई थी ये तो कुंवर सिंह ने मुझे बता ही दिया था । पर इतनी खडी चढाई तो मैने सोची भी नही थी । दो बातो ने इस चढाई पर मुझे परेशान कर दिया । पहली कि मैने विनचीटर पहन रखी थी...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
ATUL WAGHMARE
0

Neelganga to patal garoli ,नीलगंगा से पाताल गैरोली ,

नीलगंगा पार करने के बाद लगातार चढाई थी ये तो कुंवर सिंह ने मुझे बता ही दिया था । पर इतनी खडी चढाई तो मैने सोची भी नही थी । दो बातो ने इस चढाई पर मुझे परेशान कर दिया । पहली कि मैने विनचीटर पहन रखी थी...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Manu
yatra (यात्रा ) मुसाफिर हूं यारो .............
146
Copy & Pest
102

इच्छा मृत्यु व् आत्महत्या :नियति व् मजबूरी

इच्छा मृत्यु व् आत्महत्या :नियति व् मजबूरीअरुणा रामचंद्र शानबाग ,एक नर्स ,जिस पर हॉस्पिटल के एक सफाई कर्मचारी द्वारा दुष्कर्म की नीयत से बर्बर हमला किया गया जिसके कारण गला घुटने के कारण उस...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
SHALINI KAUSHIK
कानूनी ज्ञान
75

आस्था

यह यशोदा जी की पहली कविता है।हे ईश्वर.....सदियों से बने हुए होमूर्ति तुम.... ...........तुम्हें परोस करखिलाने का बहानाअब त्याग दिया     लोगों ने ....अबनोच-नोच कर खाने लगे हैं तुम्हें ही  तुम पर आस्थाव...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
बृजेश नीरज
68

Four Tips To Overcome Procrastination :

Here are four simple tips to overcome Procrastination :1. Set deadlines for all important tasks and tell other peopleyou will get the job done.    (Telling others actually motivatesyou to do it because you don't want to look bad.)2. Create a rewards system when you complete a task e.g if I complete this task I will take    myself out to dinner. The keyis to make sure you don't reward yourself unless you do the    task.3. Refuse to rationalise/make excuses. Tell...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Rishikesh Meena
Rishikesh Meena
101

Effective Time Management Technique

For effective time management, use the triage method. This method was developed by the French army in World War I, when the dressing stations behind the lines were swamped with far too many wounded soldiers for the doctors and nurses to treat. They solved the problem by dividing the wounded into three groups. The first were those who would die, no matter how much treatment they received. They were put aside and made comfortable.The second group included those who had only light wounds. They...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Rishikesh Meena
Rishikesh Meena
88

No Title

हमारी कविता की  इस वर्ष आने वाली नई पुस्तक "शब्दों के पुल" का  प्रस्तावित मुखपृष्ठ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Sarika Mukesh
अंतर्मन की लहरें Antarman Ki Lehren
68

पहचान (pehchan): poster kavita

पहचान (pehchan): poster kavita: poster made by K Ravindra......  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
anwar suhail
अनवर सुहैल का रचना संसार
73

अपना सेक्युलर राज, लाज ना आती इस को-

अफ़सोस ! पी.सी.गोदियाल "परचेत"  अंधड़ !रहे रिपु-दमन हैं विछा, पलक-पाँवड़े आज |माँगे नोबुल शान्ति का, अपना सेक्युलर राज |अपना सेक्युलर राज, लाज ना आती इस को |उस दुश्मन पर नाज, सजा देनी है जिस को |दिग...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
रविकर
रविकर-पुंज
63

poster kavita

poster made by K Ravindra......  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
anwar suhail
अनवर सुहैल का रचना संसार
75

हम मिले,आप भी मिलिये 'उस' से, जो था, और नहीं भी... जो है, और नहीं भी... और जो वही हो जायेगा, जैसा आप चाहेंगे ! (पूरा किस्सा-The Complete Story)

...पृथ्वीवासी मेरी मानव संतानों,मैं कमांडर 'अल्फा'  यह संदेश आप सभी के लिये लिख रहा हूँ... मिशन 'ईश्वर की खोज में' अपने अंजाम को पाने में कामयाब रहा... और आज हमारे मिशन पर निकलने के १८५४६ साल बाद हम ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
प्रवीण शाह
86

स्वास्थ संजीवनी

गतिशीलता ही जीवन है और गतिहीनता ही मृत्यु। गतिशील जीवन ही भविष्य में पल्लवित और पुष्पित  होता हुआ संसार को सौरभमय बना देता है।मन की प्रफुल्ता से हमारा स्वास्थ  भी सुन्दर और निरोग रहता ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Rajendra kumar
स्वस्थ जीवन: Healthy life
446

पुस्तकालय ऐसे भी..

यदि विदेशी धरती पर उतरते ही मूलभूत जानकारियों के लिए कोई आपसे कहे कि पुस्तकालय चले जाइए तो आप क्या सोचेंगे? यही न कि पुस्तकालय तो किताबें और पत्र पत्रिकाएं पढ़ने की जगह होती है, वहां भला प्रशा...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Shikha varshney
स्पंदन SPANDAN
63

''नेता जी अभी और ठुकेंगे ''-एक लघु कथा

 ''नेता जी अभी और ठुकेंगे ''-एक लघु कथा भरे बाज़ार नेता जी की ठुकाई की जा रही थी .महिलाएं चप्पलों,सैंडिलों से उनका बदचलनी का भूत उतार रही थी .अभी अभी उन्होंने ''स्त्री सशक्तिकरण'' के कार्यक्रम मे...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
SHIKHA KAUSHIK
WORLD's WOMAN BLOGGERS ASSOCIATION
63

मर्यादा पुरुषोत्तम राम की सगी बहन : भगवती शांता -3

सर्ग-1भाग-3कौशल्या-दशरथ   कुंडली   दुख की घड़ियाँ सब गिनें, घड़ी-घड़ी सरकाय ।धीरज हिम्मत बुद्धि बल, भागे तनु विसराय ।भागे तनु विसराय, अश्रु दिन-रात डुबोते ।रविकर मन बहलाय, स्वयं को यूँ ना ख...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
रविकर
रविकर की कुण्डलियाँ
83

अंतर्कथा

प्रेम भी आकार लेता है जब तो उससे पहले धुंध होती है गहरे अँधेरे में बूंद बूंद बरसती धुंध माँ की लोरियों जैसी जीवन के अर्थ देती है मन को एक नहीं,दो नहीं - अनगिनत पंख मिलते हैं मुंडेर कित...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Ravindra Prabhat
वटवृक्ष
70

इश्क़ में इल्ज़ाम उठाने ज़रूरी हैं...............हेमज्योत्सना 'दीप'

सफ़र के बाद अफ़साने ज़रूरी हैंना भूल पाए वो दीवाने ज़रूरी हैंजिन आँखों में हँसी का धोखा होउनके मोती चुराने ज़रूरी हैंमाना के तबाह किया उसने मुझे,मगर रिश्ते निभाने ज़रूरी हैंज़ख़्म दिल के ना...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Yashoda Agrawal
मेरी धरोहर
68


Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन