अपना ब्लॉग जोड़ें

अपने ब्लॉग को  जोड़ने के लिये नीचे दिए हुए टेक्स्ट बॉक्स में अपने ब्लॉग का पता भरें!
आप नए उपयोगकर्ता हैं?
अब सदस्य बनें
सदस्य बनें
क्या आप नया ब्लॉग बनाना चाहते हैं?
हमारे विषय
नवीनतम सदस्य

नई हलचल

जनता के साथ अजीब खेल खेल रही है सरकारें !!

हमारे देश में सरकारों का अजब हाल है उन्होंने इस देश को फ़ुटबाल का मैदान समझ रखा है और जनता को फ़ुटबाल ,तभी तो वो जब चाहे जो चाहे और उनके मन में जो आये वो करती रहती है ! असल में सरकारों नें इस देश की ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
पूरण खण्डेलवाल
27

कुण्डलिया [सावन]

सावन आया झूम के,देखो लाया तीजरंगबिरंगी ओढ़नी, पहन रही है रीझपहन रही है रीझ, हार कंगन झाँझरियाजुत्ती तिल्लेदार, आज लाये साँवरियाउड़ती जाय पतंग, लगे अम्बर मनभावनझूलें मिलकर पींग, झूम के आया साव...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
सरिता भाटिया
गुज़ारिश
51

प्रभावी स्क्रिप्ट : राईट क्लिक अक्षम कर अपना ब्लॉग सुरक्षित करें

मनोज जैसवाल : सभी पाठकों को मेरा प्यार भरा नमस्कार। आज तकनीकी पोस्टों के क्रम में आप को जानकारी दे रहा हूँ कि आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर पोस्ट चोरी रोकने के लिए राईट क्लिक अक्षम कर अपना ब्लॉग स...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
manojjaiswalpbt
ultapulta
97

नव-निर्माण

5 वर्ष पूर्व
निहार रंजन
बातें अपने दिल की
61

देख रही हूं..

तेरी मासूम सी हस्ती है... और मेरी अथाह उम्मीदेंतुझे ठोकरों से संभलते देख रही हूंअपने ही डर से लड़ते तुम, तुम्हें निर्भय बनते देख रही हूं..अपनी अक्षमताओं को हराते तुम,तुम्हें योग्यताओं में ढ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
parul chandra
26

मायावी गिनतियाँ : भाग 13

''अरे नेहा तुमने ये नोटिस पढ़ा?" पिंकी ने नेहा का ध्यान नोटिस बोर्ड की तरफ दिलाया और वो सब एक साथ नोटिस बोर्ड को पढ़ने लगीं। ''कल प्रेयर के बाद रामू क्या बताने जा रहा है?" तनु ने अपने दिमाग पर जोर...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Dr. Zeashan Zaidi
Hindi Science Fiction हिंदी साइंस फिक्शन
72

Creat a New Folder

Creat a New Folder Right Mouse Click on the Desktop Choose New ----> FolderType Folder Name and Enter  ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
HARSHVARDHAN SRIVASTAV
Journey of भारत
68

"चन्द्रमा सा रूप मेरा" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

बाँटता ठण्डक सभी को, चन्द्रमा सा रूप मेरा।तारकों ने पास मेरे, बुन लिया फिर घेरा-घनेरा।।रश्मियों से प्रेमियों को मैं बुलाता,चाँदनी से मैं दिलों को हूँ लुभाता,दीप सा बनकर हमेशा, रात का हरता ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
63

वो खेत हरियाले .वो गाँव के पेङ फलवाले ..श्री नरपतसिंह राजपुरोहित

वो खेत हरियाले ,वो गाँव के पेङ फलवाले ,वो मीत मतवाले ,वो खेल का मैदानजहाँ खूब की थी खेल मस्ती वो छोटा सा बाजारजहाँ कुल्फी मिलती थी सस्ती ,वो गाँव की शालाजहाँ सीखी थी वर्णमाला ,वो टूटी सी सङकजहा...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
  Sawai Singh Rajpurohit
RAJPUROHIT SAMAJ
163

परिकल्पना ब्लॉग गौरव सम्मान डॉ0 अरविंद मिश्र और अविनाश वाचस्पति को ...

जैसा कि आप सभी को विदित है कि “न्यू मीडिया और हिंदी का वैश्विक परिदृश्य” विषय पर दो दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय परिसंवाद का आयोजन 13-14 सितंबर 2013 को काठमाण्डू में किया जा रहा है । यह परिसंवाद चार सत्रो...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Ravindra Prabhat
परिकल्पना
59

फ्री में sms भेजे

आपने बहुत सी sms साईट से sms  भेजा होगा होगा लेकिन लिख कर आज आपको एक ऐसी sms साईट पर लेकर चलता हु जिस पर आप बोल कर sms भेज सकते हो इतना ही नही ये साईट आपको फ्री कॉल की आजादी भी देती है आप इस साईट का आनंद म...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
bheemraj
internet ki bate
136

मादा को आकर्षित करने के लिए रुमानी गीत गाते हैं नर चमगादड़

नर चमगादड़ पशु-पक्षियों की दुनिया में सबसे रुमानी गायक होते हैं। वे मादा चमगादड़ को अपनी तरफ आकर्षित करने के लिए खास तरह का स्वर निकालते हैं और अपने स्वर बदलकर मादा चमगादड़ के मनोरंजन के लिए ब...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Journalist
मेरा संघर्ष
62

आशी और काशी

चार बरस की आशीऔर पाँच वर्षीय काशी मेंआपस में बडा है मेलवो एक साथ पढते हैंऔर एक साथ खेलते हैं खेलआशी खेलती है अपने किचन मेंखाना, चाय, कॉफी बन...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Sarika Mukesh
अंतर्मन की लहरें Antarman Ki Lehren
48

Meanings of gestures - Significato dei gesti - मुद्राओं के अर्थ

Orissa, India: Today's images are about different gestures of Buddha statues in the Dhaulagiri Buddha temple. In the first image his right hand touches the earth and is called "Bhumisparsha", while his left hand is in "Dhyana" meditation gesture, together this pose symbolises "Sanyama" self-control over the negative feelings. The raised hand in the second image is called "Abhaya" and signifies freedom from fear. The third statue shows him with inter-linked circles made from thumbs and index fing...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
SUNIL DEEPAK
Chayachitrakar - छायाचित्रकार
136

क्रेडिट कार्ड से नहीं होगा भुगतान

अब वह दिन दूर नहीं जब भुगतान करने के लिए आपको क्रेडिट कार्ड, मोबाइल फोन या पर्स की जरूरत नहीं पड़ेगी। फिनलैंड की कंपनी यूनिक्वल ने दुनिया की पहली ऐसी भुगतान प्रणाली विकसित की है, जो ग्राहकों क...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
ललित चाहार
Tech Education HUB
65

"मेरे काव्यसंग्रह 'धरा के रंग' से एक वन्दना" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

"धरा के रंग" से एक वन्दनारोज-रोज सपनों में आकर,छवि अपनी दिखलाती हो!शब्दों का भण्डार दिखाकर,रचनाएँ रचवाती हो!!कभी हँस पर, कभी मोर पर,जीवन के हर एक मोड़ पर,भटके राही का माता तुम,पथ प्रशस्त कर जात...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
215

biking on trek to shikari devi ,फिसलन और बर्फ से भरे कच्चे रास्ते पर बाईकिंग

खडी चढाई , बर्फ से ढकी और पकडने के लिये कोई साधन भी नही , मेरे पास कोई डंडा नही था और मैने इधर उधर ढूंढने की कोशिश भी की पर कुछ भी ऐसा नही मिला । थोडा सा आगे चलने की कोशिश की तो पैर फिसलने लगे तब इस पक...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Manu
yatra (यात्रा ) मुसाफिर हूं यारो .............
98

विचलित व्यथित मन से कैसे खोलूँ द्वार

विचलित व्यथित मन से कैसे खोलूँ द्वार जो हरियाये हर चमन को कोई आँगन ना हो उजियाड मिड डे मील त्रासदी से मन है बेहद बेज़ारफिर भी आपकी पोस्ट्स से चर्चामंच हो गया तैयार करूं न याद, मगर किस तरह भ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
64

छंद-प्रतियोगिता

 सिरजन 'सृजन-मंच' पर, करिये अपना पद्य |रखिये इतना ध्यान पर, नहीं चलेगा गद्य |नहीं चलेगा गद्य,  विधा  बतलाई   जाये,उसी विधा में लिखें,  आन लाइन पहुंचाये |कहे'राजकवि' ध्यान रखें नियमों का प्रिय...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
60

आओ लौट चलें अब घर को

आओ लौट चलें अब घर को उस धरती पर धूल में जिसकी खेले बड़े हुए हमउस चौखट पर जिसका दामन थामे खड़े हुए हमअँगनाई वह जिसमे हमने गिर गिर कर सीखा था चलनातुतलाहट सीखी थी हमने रोना सीखा और मचलनालौट चलें हम...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
darshan jangra
प्रेम के फूल
50

पत्रकारिता जनून है

पत्रकारिता जनून है                                                      डॉ. नीरज भारद्वाजपत्रकारिता के अर्थ की बात करें त...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Dr. Neeraj Bhardwaj
पत्रकारिता@
65

No Title

संस्कृत, प्राकृत, अपभ्रंशआज हिन्दी भाषा के जिस रूप को हम जानते है, उसका प्राथमिक स्तर ऐसा नहीं था। आरंभ से हम विचार करें तो हिंदी आधुनिक आर्य भाषाओं में से एक है। आर्य भाषा का प्राचीनतम रूप वैद...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Dr. Neeraj Bhardwaj
पत्रकारिता@
82

"माँ बस इतना उपकार करो" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’)

मित्रों!आज अपने काव्य-संकलनसे माँ वीणापाणि की वन्दना के रूप मेंपहली रचना प्रस्तुत कर रहा हूँ। --तुम बिन सूना मेरा आँगन,बाट जोहता द्वार।उर में करो निवास शारदे,मन के हरो विकार।। मेरा वन्द...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
87

श्री निर्मलदासजी महाराज का चातुर्मास.सुगना फाऊंडेशन-मेघालासिया

 श्री1008 श्री निर्मलदासजी महाराज का चातुर्मास आरंभ.....आप भी सादर आमंत्रित हैं! आप सभी पधार कर अपने जीवन को सफल बनावे और इस महान दिन का आनंद ले.... सुगना फाऊंडेशन-मेघालासिया जोधपुरअधिक जानकार...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
  Sawai Singh Rajpurohit
RAJPUROHIT SAMAJ
74

हज़ारों दुखड़े सहती

हज़ारों दुखड़े सहती है माँफिर भी कुछ ना कहती है माँहमारा बेटा फले औ' फूलेयही तो मंतर पढ़ती है माँहमारे कपड़े कलम औ' कॉपीबड़े जतन से रखती है माँबना रहे घर बँटे न आँगनइसी से सबकी सहती है माँरहे सल...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
darshan jangra
प्रेम के फूल
66

उस पार --- भाग 2

  हालांकि ये   स्थिति भी ज्यादा देर  तक  नहीं  ठहर सकी .. उसने  खुद को एकबारगी फिर से फूलों की टहनियों और उस खरगोश की तलाश में व्यस्त कर लिया। पर जाने क्यों वो उत्साह अब मंद पड़  ग...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
Bhavana Lalwani
Life with Pen and Papers
66

"नखरे भी उठाये जाते हैं" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

मित्रों!आज एक कव्वाली बन पड़ी है...!नजरों से गिराने की ख़ातिर, पलकों पे सजाये जाते हैं।मतलब के लिए सिंहासन पर, उल्लू भी बिठाये जाते हैं।।जनता ने चुना नहीं जिनको, वो चोर द्वार से आ पहुँचे,माटी ...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री मयंक
46

Appeal to AWOs! Please Help Stop the Misuse of Oxytocin in Cows                               A significantly large number of Indian farmers routinely use Oxytocin, a Schedule H drug to force a lactating cow to give milk beyond her body's capacity. This abuse of oxytocin is a violation of the PCA Act, 1960 and calls for strict legal action. Ox...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
R B CHAUDHARY
ANIMAL WELFARE SCIENCE COMMUNICATOR
4

Learn Photoshop in Hindi फोटोशॉप सीखे हिंदी में Part-1 Introduction

फोटोशॉप  परिचयPhotoshop Introductionयह Adobe कम्‍पनी द्वारा बनाया गया है,  Photoshop नाम आते ही कई प्रकार के अनोखे चिञ दिमाग में आने लगते हैं, और यह सही भी है फोटोशॉप दुनिया में DigitalImaging हेतु प्रयोग किया जाने वाला सबस...  और पढ़ें
5 वर्ष पूर्व
abhimanyu
25


Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन