bhonpooo.blogspot.com की पोस्ट्स

त्वरित 

त्वरित  (लघु कथा )गेस्ट राइटर : विजय चतुर्वेदीराजीव भाई नमस्कार ! फाइलों में उलझे हुए बेख़बर , जैसे ही चिरपरिचित आवाज़ सुनाई दी , मन को एक राहत सी महसूस हुई , सामने नेविल भाई खड़े थे। अरे आइये नेवि...  और पढ़ें
12 घंटे पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
0

पंचू और ब्लू व्हेल - :भावना की मीडिया क्लास

  पंचू आज सालों बाद अपनी दीदी के घर मुंबई जा रहे थे। इस दौरान मुंबई में भी बहुत बदलाव आ गया था और पंचू में भी, वो भी अब पहले वाले पंचू कहाँ रह गए थे ?  पिछली बार मुंबई में उन्होंने मीडिया लिटर...  और पढ़ें
1 दिन पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
3

अगस्त भ्रांति - हास्यव्यंग

साधो, बचपन से ही  मैं अगस्त महीने का बड़ा फैन रहा हूं। इस महीने में कई त्योहार जो पड़ते हैं। त्योहार यानी छुट्टी। नागपंचमी, रक्षाबंधन, स्वतंत्रतादिवस आसपास ही पड़ते हैं। एक और त्योहार जिसे स...  और पढ़ें
1 दिन पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
4

पकवानों की खुशबू लाया - बालगीत 65

त्योहारों का मौसम आया पकवानों की खुशबू लायानागपंचमी  रक्षाबंधनकृष्ण जन्म और गणपति वंदनदेते खुशियों के उपहार बच्चों को सारे त्योहारनवरात्री में दुर्गा पूजागरबा पे रंग चढ़े न दूजाविज...  और पढ़ें
2 दिन पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
0

सुहानी वर्षा रितु - बालगीत 67

वर्षा रितु है बड़ी सुहानीधरती ओढ़े चूनर धानीखूब झमा झम बरसे पानीपानी से ही है जिंदगानीसन सन सन चलती पुरवाईबादल बरखा संग ले आईमहकी बगिया घर अंगनाईजब बहार सावन की आईताल तलैया नदिया नारेउफनाए ...  और पढ़ें
3 दिन पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
0

गुटर गुटर गूं - बालगीत 70

गुटर गुटर गूं  गुटर गुटर गूंगुटर गुटर गूं गाए कबूतरदाना बिखरा दो तो झट सेचुगने को आ जाए कबूतरकभी पेड़ छत की मुड़ेर कभीआंगन में दिख जाए कबूतरउड़ते उड़ते आसमान मेंकरतब कई दिखाए कबूतरकथा कहान...  और पढ़ें
4 दिन पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
0

जै कन्हैया लाल की - दोहे

कान्हा के कितने रूप और कितने नाम हैे। महाकवि सूरदास जी ने श्यामसुंदर की बाल लीलाओं का जितना मनोहारी चित्रण किया है कहीं और मिलना मुश्किल है। अनगिनत लोकगीतों के माध्यम से जनमानस में यशोदा के ...  और पढ़ें
5 दिन पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
0

जुझारी(2) - खजाना यादों का 4

मध्य प्रदेश के गांब उत्तर प्रदेश के गावों की तरह सघन और बड़ी आबादी वाले नहीं होते। कोई कोई गांव तो महज चार या पांच घरों की बस्ती है और ये घर भी एक दूसरे से काफी दूर दूर हैं। इस लिहाज से तो घोरौली ...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
5

चोटीकटवा के नाम खुला पत्र - प्रसंगवश

आदरणीय चोटीकटवा जी,आप मेरे लिए आदरणीय हैं भले ही मध्य प्रदेश पुलिस ने आप पर दस हजार का इनाम घोषित कर दिया हो। आप ने मुझे बहुत बड़े भ्रम से निकाला है। अभी तक बाबा तुलसीदास जी की सीख की वजह से मै इस...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
1

नन्ही किलकारी - बालगीत 72

आई घर नन्ही किलकारीमहक उठी सारी फुलवारीमिला खिलौना पूरे घर कोदेख सभी खुश होते उसकोनजरें हर पल रहेें उसी पेछोटी से छोटी से हलचल पेआंखें बंद किए मुस्काएजरा सा खोले फिर सो जाएशू शू करके जोर से र...  और पढ़ें
1 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
3

बच्चे बकरी के - बालगीत 68

मम्मी ये बकरी के बच्चेदेखो तो हैं कितने अच्छेमन करता है इनसे खेलूंअपनी गोदी में मैं ले लूंउछल कूद करते हैं कैसेहिरनों के बच्चे हों जैसेधमा चौकड़ी जमकर करतेमां का दूध दौड़कर पीतेकपड़े गर्म इ...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
2

लाल टमाटर - बालगीत 69

मैं हूं लाल टमाटर आजाजैसा चाहे वैसे खाजासाग सब्जियों की हूं जानविटामिनों की भी मैं खानरोज एक लाल टमाटर खाओबीमारी को दूर भगाओबिन मेरे ना बने सलादभोजन में ना आए स्वादकभी दाम इतने बढ़ जातेडरें ...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
4

राखी आई - कविता

राखी आई राखी आईयादें बहनों की संग लाईमीठी यादें वो बचपन कीधींगामुश्ती छीना झपटीकभी चिढ़ाना कभी झगड़नाकभी शिकायत झूठी करनापर जब चोट लगे भाई कोबहना दौड़ी दौड़ी आईराखी आई राखी आईयादें बहनों क...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
3

अनमोल खजाने - बालगीत 71

सचमुच ही अनमोल खजानेहोते हैं ये अच्छे दोस्तअच्छे दिन के बहुत हैं साथीमुश्किल में काम आते दोस्तयाद पुरानी जब जब आएयाद आते बचपन के दोस्तदिल की धड़कन बनकर रहतेदिल में सदा हमारे दोस्तहाथ थामना ...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
2

जुझारी - खजाना यादों का 3

मेरी पहली मुलाकात जुझारी भाई से बिलकुल बालीवुड स्टाइल में बड़े ही अजीबोगरीब हालात में हुई जिसे ताउम्र कभी भुलाया नहीं जा सकता। घटना सन् 1985 के आसपास की होगी। सिंगरौली क्षेत्र में कोयला खदानों...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
2

जैसे पहाड़ी इलाकों में .... ( साइड इफेक्ट रंग रंग के - 2 )

साधो, घर पर बैठा मैं अपने जीवन में शादी के साइड इफेक्टों का लेखा जोखा कर ही रहा था कि पर्यावरण और वन्यजीव प्रेमी हमारे मित्र दीनबंधु जी ने कुछ इस तरह इंट्री मारी कि मैं तो चारे खाने चित हो गया। ज...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
3

मौत का खेल : ब्लू व्हेल (भावना की मीडिया क्लास )

फेसबुक के आकर्षण से खुद को बचा पाना मेरे लिए भी मुश्किल ही है बस फ़र्क़ इतना है की हर किसी की फोटो को लाइक करने या बे सर पैर की पोस्ट पढ़ने और शेयर करने के बजाय  कुछ सार्थक पढ़ने को मिल जाए, ऐसे कंटें...  और पढ़ें
2 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
6

झरना - बालगीत

झरना झर झर बहता हैबहते बहते कहता हैजीवन है चलने का नाममंजिल पा करना आरामराह कटेगी गाते जाओहंसते गाते मंजिल पाओपास हमारे जो भी आएपल में ताजादम हो जाएआओ सुनो मेरा संगीतमुझे बनाओ अपना मीत------  श...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
4

ना कोई राजा ना कोई रानी - बालगीत

लोकतंत्र की सुनो कहानीना कोई राजा ना कोई रानीअब आया है नया जमानाबदला सारा चलन पुरानाराजा प्रजा हुए अब एकएक वोट रखता प्रत्येकअपना प्रतिनिधि जनता चुनतीसुनती सबकी करती मन कीसंसद न्यायपालिका ...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
4

हसमुख लाल - बालगीत.

बडे हसोड़ ये हसमुख लालहस हस कर ये करें धमालबड़ी जोर से हसते ऐसेलाफिंग गैस सूघ ली जैसेरोना उनको कभी न आयाहस हस कर घर भर को रुलायाहसी भी इतनी जोर की आतीछत दीवारें सब हिल जातीडाक्टर बैद हकीम भी आए...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
3

प्यारी चाट दूकान

सबसे प्यारी चाट दुकानछप्पन से इंदौर की शाननाम जुबां पर जब जब आतामुह में झट पानी भर जाताटिकिया की तो बात निरालीमन ना भरे जेब हो खालीपानी बताशे खाते जाओना ही गिनना  ना शरमाओदही बड़े जिसने ना ख...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
3

लछिमन कहां जानकी होइहैं .... ( खजाना यादों का - 2 )

सावन का अलमस्त महीना और ठंढ़ी ठंढ़ी हवा के साथ पड़ती फुहारें जैसे जादू करती थीं। बरगद के पेड़ की ऊंची मजबूत डाल पर बड़ा सा नार ( मोटा रस्सा ) डाल कर उस पर पंहटा ( मोटा लंबा लकड़ी का पटरा) रख कर बड़ा ...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
7

खजाना यादों का

मेरे जैसे साधारण इंसान के पास यादों के अलावा और हो भी क्या सकता है। हां,अगर म्युनिस्पैलिटी का बाबू होता, पीडब्ल्यू डी या रजिस्ट्रार आफिस का चपरासी भी होता तो बात कुछ और थी। अब इनहें ही खजाना कह ...  और पढ़ें
3 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
2

रे मन सत्ता को पकड़ ... ( सामयिक दोहे )

हे सत्ता महरानी तेरी महिमा अपरम्पार है। मैं मूढ़ अज्ञानी इसे कभी समझ न पाया और पूरी जवानी व्यवस्था परिवर्तन की आस में गैरदलीय राजनीति के पीछे कोल्हू के बैल की तरह चलने में गुजार दी। हे सर्वव्...  और पढ़ें
4 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
7

शिकायतनामा - बालगीत

नानी नानी जल्दी आओदूध जलेबी हमें खिलाओमुझे प्यार से गले लगाओफिर मम्मी को डांट पिलाओमम्मी जितना काम करातींउससे ज्यादा  डांट लगातीहोमवर्क सारा करवातींनए खिलौने भी ना लातींनानी मोबाइल रखत...  और पढ़ें
4 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
3

आ गया अवसान ... ( गीत )

आ गया अवसानलो अब दिवस काआओ साथी चलोअब घर को चलेंदृश्य करलो बंदसुंदर नयन मेंउल्लसित मन लिएअब घर को चलेंसांझ की बेलासुनाती रागनीगुनगुनाते उसेअब घर को चलेंलो सुनो पदचापआती निशा केकर सभी को नम...  और पढ़ें
4 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
4

पिंकी का सपना - बाल गीत

टिमटिम ज्यों बिस्तर पर सोईत्यों ही वह सपनों में खोईशेर एक सपने में आयापर ना गर्जा ना गुर्रायाटिमटिम को देखा मुस्कायाहाथ मिलाकर दोस्त बनायाजंगल की फिर सैर करायासबसे टिमटिम को मिलवायायह देख...  और पढ़ें
4 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
7

खुशियों का व्यापार ... ( बालगीत )

खुशियों का व्यापार निरालाजिसमें लगे छदाम न लालाचोर कोई न इसे चुराएबांटो तो यह बढ़ती जाएना ही टैक्स कोई है इस परना ही निकले कभी दिवालाखुशियों का व्यापार निरालाजिसमें लगे छदाम न लालाखुशियां ...  और पढ़ें
4 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
4

झूला तो पड़ गए ... ( लोकगीत )

जी हां, हरियाला सावन झूम झूम कर आ गया। बादल, बरखा, ठंढ़ी हवा, झूले, कजरी, मल्हार एक साथ इकट्ठे हो जांय तब पक्का जानिए कि सावन ही द्वार पर दस्तक दे रहा है। शहरों में भले ही सावन दबे पांव आता हो, शहरी ज...  और पढ़ें
4 सप्ताह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
4

किताबें - बालगीत

सुनो किताबें क्या कहती हैंहमसे ये बातें करती हैंदूर देश की सैर करातींकथा कहानी खूब सुनातींकभी हमें इतिहास बतातींकभी ज्ञान विज्ञान सिखातींयहां ज्ञान का भरा खजानाजिसने पाया उसने जानापुस्त...  और पढ़ें
1 माह पूर्व
bhonpooo.blogspot.com
3
Postcard
फेसबुक द्वारा लॉगिन  
हो सकता है इनको आप जानते हो!  
Rajesh kumar
Rajesh kumar
jaipur,India
famousladyastro
famousladyastro
ludhiana,India
faiyaz
faiyaz
bilaspur,India
MANOJ KUMAWAT
MANOJ KUMAWAT
Patodi,Barmer,Rajasthan,India
Dheeraj
Dheeraj
,India
chanchal
chanchal
raj..,India